12 बेटियों के बाद आया बेटा, 60 साल की उम्र में मिला तोहफा

स्टेटमेंट टुडे न्यूज़/एजेंसी:

श्रीगंगानगर। समाज में बेटा-बेटी में फर्क भले ही खत्म हो चुका है लेकिन, कई परिवारों में बेटे का मोह अब भी खत्म नहीं हो रहा है। इसी का उदाहरण हैं यहां के अंग्रेजराम। जिले के रामसिंहपुर में 69 जीबी गांव के रहने वाले अंग्रेज राम के 12 बेटियों के बाद अब 1 बेटा हुआ है। 60 साल के इस शख्स को इनके माता-पिता ने गोरा रंग होने के चलते अंग्रेजराम नाम दिया। अंग्रेजराम 11 बेटियों के पिता हैं, जिनमें से 6 की शादी की जा चुकी है और 5 बेटियां अविवाहित हैं। इसके अलावा 12 उसके नाती-नातिन हैं। इस भरे पूरे परिवार के बावजूद उसे बेटे की चाहत रही। बेटा न होने की वजह से अंग्रेज राम ने 5 साल पहले आधी उम्र की सुमित्रा से शादी कर ली। अंग्रेज के सुमित्रा से भी पहले 2 बेटियां हुईं, जिनमें एक की मौत हो गई। अब 13वीं बार में वह बेटे का पिता बने। उसकी दूसरी पत्नी ने तीसरी संतान के रूप में सरकारी अस्पताल में बेटे को जन्म दिया। अंग्रेजराम का गांव में एक ही कमरे का कच्चा घर है। लिहाजा उसकी बेटियां दामाद जब भी घर आते हैं तो पड़ोसियों के ही घर में रुकते हैं। गांव में हिस्से पर जमीन लेकर काश्त करने वाला अंग्रेजराम इसी से पूरे परिवार का गुजर-बसर करता है।