ऐसा लग रहा है कि उत्तर प्रदेश की राजनीति अब चुनावी कड़वाहट को भुलाकर और कुछ नए समीकरण साधते हुए आगे बढ़ रही है. शुक्रवार को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा और बेटे प्रतीक यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की है.
यादव परिवार के दोनों सदस्यों ने इसे शिष्टाचार के तहत की गई सामान्य मुलाकात बताया है. लेकिन, विधानसभा चुनाव में भाजपा के हाथों सपा-कांग्रेस गठबंधन की करारी हार और परिवारवाद के बहाने मुलायम सिंह यादव पर भाजपा के तीखे हमलों को देखते हुए इस मुलाकात ने लोगों को हैरत में डाल दिया है. सपा के अंदरूनी टकराव के समय शिवपाल यादव के खेमे की समझी जाने वाली अपर्णा यादव ने बाद में सपा के टिकट पर लखनऊ कैंट से चुनाव लड़ा था. यहां उन्हें रीता बहुगुणा जोशी से हार का सामना करना पड़ा था. भाजपा को मिले भारी बहुमत और सपा की कमजोर होती हालत के बीच इस मुलाकात को प्रतीक और अपर्णा की भाजपा से करीबी बढ़ाने की कोशिश के तौर पर भी देखा जा रहा है.
अपर्णा यादव इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करने की वजह से चर्चा में रह चुकी हैं. बीते साल उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के साथ सेल्फी लेकर सबको हैरत में डाल दिया था. उस समय मोदी मुलायम सिंह के एक पारिवारिक समारोह में शामिल होने सैफई आए थे. हालांकि, इससे जुड़े सवाल पर अपर्णा का कहना था कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है, क्योंकि नरेंद्र मोदी सभी के प्रधानमंत्री हैं.