रोबोटिक सर्जरी से अब किडनी ट्रांसप्लांटेशन होगा आसान

स्टेटमेन्ट टुडे / समाचार एजेंसी:

अब्दुल बासित/ब्यूरो मुख्यालय: जयपुर, महात्मा गांधी यूनिवर्सिटी आॅफ  मेडिकल साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी में शनिवार को आर एल स्वर्णकार ओरेशन कार्यक्रम आयोजित हुआ। मुख्य वक्ता डीन आॅफ  गुजरात यूनिवर्सिटी आफ  ट्रांसप्लांटेशन साइंसेज, अहमदाबाद के डीन डॉ. प्रांजल मोदी ने रोबोटिक किडनी ट्रांसप्लांटेशन- एन इवेल्यूशन ओर रिवोल्यूशन विषय पर सम्बोधित किया।

डॉ. मोदी ने कहा कि देश में अब रोबोट के जरिए किडनी प्रत्यारोपण होने लगे हैं। वह दिन दूर नहीं कि जब इंटरनेट स्पीड 8 जी तक पहुंच जाएगी तो दूर किसी अस्पताल में बैठे एक किडनी प्रत्यारोपण विशेषज्ञ रोबोटिक आर्म के जरिए किसी अन्य शहर में रोगी का आॅपरेशन कर सकेगा। उन्होंने बताया कि सामान्य किडनी प्रत्यारोपण में रोबोटिक किडनी प्रत्यारोपण की अपेक्षा अधिक बड़ा चीरा लगता है। जबकि रोबोटिक आर्म्स के जरिए किए जाने किडनी प्रत्यारोपण में बहुत छोटे छिद्र से आॅपरेशन किए जाते हैं। डॉ. प्रांजल ने बताया कि लेप्रोस्कोपिक सर्जरी में चिकित्सक आसानी से सात डिग्री तक भी अपने उपकरणों को घुमा सकता है।

रोबोटिक सर्जरी में सर्जन को आॅपरेशन वाले हिस्से का 3डी विजन दिखाई देता है इसी वजह से इसे सर्जरी के लिए अधिक सटीक माना जाता है। ओरेशन के आरंभ में यूनिवर्सिटी के चेयरपर्सन प्रो. डॉ. एम.एल. स्वर्णकार ने बताया कि इस प्रकार के आयोजनों से चिकित्सकों के ज्ञान की अभिवृद्धि होती तो है ही वही अपने अनुभव शेयर करने के लिए मंच मिलता है। डॉ. स्वर्णकार ने कहा कि शीघ्र ही महात्मा गांधी अस्पताल में भी रोबोटिक किडनी प्रत्यारोपण होंगे।

49 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *