मुजफ्फरनगर रेल हादसे में बड़ी कार्रवाई, 13 रेल कर्मियों की सेवा समाप्त

स्टेटमेंट टुडे / समाचार एजेंसी:

अब्दुल बासित / ब्यूरो मुख्यालय : नयी दिल्ली : रेल मंत्रालय ने मुजफ्फरनगर रेल हादसे पर बड़ी कार्रवाई की है. रेलवे ने माना है कि रेल कर्मियों की गलती से यह हादसा हुआ है. ऐसे में रेलवे ने अपने 13 कर्मचारियों की सेवा समाप्त कर दी है. रेलवे के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने मीडिया को यह जानकारी दी है. यह हादसा इस महीने की 19 तारीख को उत्तरप्रदेश के मुजफ्फरनगर के निकट खतौली के पास हुआ था.

पुरी-हरिद्वार कलिंगा एक्स्रपेस के 14 डब्बे पटरी से उतर गये थे, जिसमें 23 लोगों की मौत हो गयी थी और 65 लोग घायल हो गये थे. इस हादसे के संबंध में आरंभिक जांच में भी कर्मचारियों की लापरवाही को ही कारण बताया गया था. घटना के वक्त रेल ट्रैक की मरम्मत हो रही थी, जिसके संबंध में उचित ढंग से सूचित नहीं किया गया था. आवासीय इलाका होने के बावजूद उस वक्त ट्रेन भी काफी स्पीड में थी.

इस हादसे के बाद रेल बोर्ड के तत्कालीन अध्यक्ष एके मित्तल को इस्तीफा देना पड़ा, जबकि रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने प्रधानमंत्री से मुलाकात कर इस्तीफे की पेशकश की. हालांकि प्रधानमंत्री ने उन्हें इंतजार करने को कहा. इस हादसे के बाद विपक्ष ने भी रेलमंत्री का इस्तीफा मांगा था.