प्रदेश के खुबसूरत पर्यटन स्थल और कुम्भ को प्रदेशवासी सोशल मीडिया लिंक पर जोंडे – प्रो. रीता बहुगुणा जोशी

Statement Today
अब्दुल बासिद/ब्यूरो मुख्यालय: लखनऊ, प्रदेश की पर्यटन मंत्री प्रो. रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि आज देश डिजिटलाइजेशन की दिशा में सफलतापूर्वक प्रगति कर रहा है। प्रदेश के नागरिक विविध सोशल मीडिया लिंक से जुड़े हैं। उन्होंने अपील की कि प्रदेशवासी अपने सोशल मीडिया लिंक पर प्रदेश के खूबसूरत पर्यटन स्थलों और कुम्भ को भी जोड़े। प्रदेशवासियों का यह थोड़ा सा प्रयास प्रदेश के पर्यटन को विश्वभर में स्वतः प्रचारित कर देगा। उन्होंने कहा प्रदेश में पर्यटन स्थलों की भरमार है, लेकिन उसको व्यापक स्तर पर प्रचारित नहीं किया गया है।
प्रो. जोशी आज विश्व पर्यटन दिवस पर गोमती नगर, लखनऊ स्थित पर्यटन भवन में आयोजित ‘‘टूरिज्म एण्ड द डिजिटल ट्रान्सफारमेशन’’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी को सम्बोधित कर रही थीं। कार्यक्रम का शुभारम्भ पर्यटन मंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस अवसर पर उन्होंने बटन दबाकर घुमक्कड़ी को बढ़ावा देने वाले एक सोशल मीडिया कैम्पेन के वीडियो लांच का शुभारम्भ भी किया।
पर्यटन मंत्री ने प्रदेश में पर्यटन के डिजिटलाइजेशन से पर्यटकों की बढ़ी सुविधाओं और पर्यटन विभाग द्वारा इस दिशा में निरन्तर बड़े स्तर पर डिजिटल माध्यमों में अपनी पहंुच स्थापित करने की जानकारी भी दी। उन्होंने बताया कि 47 लाख से भी कहीं अधिक लोगों ने विभाग की बेवसाइट से सूचनायें प्राप्त की, जबकि ट्वीटर पर 04 लाख से अधिक तथा फेसबुक पर साढ़े तीन लाख से अधिक लोगों ने उ0प्र0 पर्यटन को फालो किया तथा पेज को लाईक किया। उन्होंने कहा प्रदेश का पर्यटन पूरे देश के पर्यटन का प्रतिनिधित्व करता है। विदेशी पर्यटकों को यहां एक साथ एक ही प्रदेश में सम्पूर्ण भारत की छवि दिख जायेगी इसलिए ‘‘भारत चलो तो यूपी चलो, क्यूँ की यूपी नही देखा तो इण्डिया नहीं देखा’’।
समारोह में अपर मुख्य सचिव एवं महानिदेशक पर्यटन अवनीश अवस्थी ने उपस्थित प्रतिभागियों के मध्य पर्यटन के लाभ पर एक रोचक क्विज, की जिसमें समारोह में उपस्थितजनों विभागीय अधिकारियों तथा प्रतिभागी बच्चों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। अवनीश अवस्थी ने कहा मनुष्य स्वभाव से ही पर्यटक है, एक जगह से दूसरी जगह जाना पर्यटन ही है। जितना विकास होता है उतना ही पर्यटन बढ़ता है और पर्यटन बढ़ने से विकास के और रास्ते स्वतः खुलते हैं। उन्होंने कहा पर्यटन ही मनुष्य में हैपीनेस इनडेक्स बढ़ाता है।
विशेष सचिव पर्यटन इंदुमती ने इस अवसर पर पूरे विश्व को पर्यटन की दृष्टि से आंकते हुए कहा हम जितना ग्लोबल होंगे उतना ही स्थानीयता का भाव बढ़ेगा। उन्होंने कहा ‘‘ग्लोबल विकम मोर लोकल, लोकल विकम मोर ग्लोबल’’। समारोह में पर्यटन क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञ वक्ताओं ने भी डिजिटलाइजेशन पर अपने विचार रखें। अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने समारोह में पर्यटन मंत्री को अंगवस्त्र तथा स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया।
समारोह में आये बच्चों ने पर्यटन मंत्री को अपने साथ फोटो सेशन और सेल्फी के लिए देर तक रोके रखा। बच्चों में समारोह को अपने मीडिया लिंक से जोड़ने में तीव्र उत्सुकता ओर आकर्षण दिखा। समारोह सांस्कृतिक कार्यक्रम और प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र वितरण के साथ सम्पन्न हुआ।