क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत कार्य में तेजी लायी जाय – केशव प्रसाद मौर्य

Statement Today
अब्दुल बासिद/ब्यूरो मुख्यालय: लखनऊ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के तथागत सभागार में विभागीय अभियन्ताओं की समीक्षा बैठक के दौरान दो लेन चैड़े मार्ग के दोनों ओर 5 किमी0 की दूरी तक यदि 250 से अधिक आबादी का कोई मजरा जुड़ने से अवशेष रह गया है तो उसका आगणन तत्काल प्रेषित करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि 2 लेन चैड़े मार्ग के दोनों ओर 5 किमी0 के दायरे के 449 कार्यों को स्वीकृति दे दी गयी है। उनकी निविदा तत्काल आमंत्रित कर कार्य प्रारम्भ करें तथा इसकी सूचना जनप्रतिनिधियों को भी दें। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि इण्टर स्टेट कनेक्टीविटी के अन्तर्गत जिन जनपदों में समस्त कार्यों के अनुबन्ध अभी तक गठित नहीं हुये हैं उन अभियन्ताओं पर कार्यवाही की जाय।
उपमुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि वर्षा के कारण जो सड़के क्षतिग्रस्त हुई हैं उनके ठीक करने की कार्यवाही युद्ध स्तर पर चलायी जाय ताकि सभी सड़कें शीघ्रतिशीघ्र दुरूस्त हो सके। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रत्येक क्षेत्र/मण्डल में हर्बल मार्ग चयनित किये गये थे, उन मार्गों में किये गये वृक्षारोपण कार्य की नियमित माॅनीटरिंग की जाय तथा इस कार्य हेतु नोडल अधिकारी भी नामित करें। उन्होने कहा कि ऐसे धार्मिक स्थल जहाॅ विशेष प्रयोजन के समय अत्यधिक श्रद्धालु आते हैं ऐसे मार्गों को सुगम यातायात की दृष्टि से चैड़ीकरण/सुदृढ़ीकरण, पुनर्निर्माण इत्यादि का आगणन गठित कर शीघ्र प्रस्तुत करें तथा निर्माण कार्य भी शुरू कराया जाय। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनप्रतिनिधियों से प्राप्त प्रस्तावों पर प्राथमिकता के आधार पर कार्य करें तथा उसकी सूचना जनप्रतिनिधियों को अवश्य दें। इसके साथ ही श्री मौर्य ने कहा कि स्वीकृतियां निर्धारित समय सीमा के अन्दर जारी करें ताकि सभी प्रकार के कार्यों को गति दी जा सके।
उपमुख्यमंत्री ने कहा जहाॅ कहीं पर भी लोक निर्माण विभाग की जमीन पर अभी भी अवैध कब्जे हैं उन्हे कठोरता से खाली कराया जाय उन्होने प्रान्तीय खण्ड के अधिकारियों को कब्जे की जमीन चिन्हित करने के निर्देश दिये। श्री मौर्य ने कहा कि भ्रष्टाचार किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं है। अतः कार्य की गुणवत्ता समयबद्धता पर विशेष ध्यान सभी अधिकारी दें, साथ ही विभिन्न कार्यक्रमों में की गयी घोषणाओं पर भी अमल किया जाय।
उपमुख्यमंत्री ने सेतु निगम के कार्यों की समीक्षा करते हुये कहा कि जो सेतु पूर्ण हो चुके हैं और उनके एप्रोच मार्ग अभी तक नहीं बने हैं, उन्हे यथाशीघ्र पूर्ण करें देरी के लिये उपमुख्यमंत्री ने कड़ी नाराजगी जताई। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा किसी अन्य विभाग के मार्गों की मरम्मत का कार्य तभी कराया जाय जब वे मार्ग लोक निर्माण विभाग को हस्तान्तरित हो जाय। केशव प्रसाद  मौर्य ने लोक निर्माण विभाग द्वारा लगाये गये साईन बोर्ड की गुणवत्ता को लेकर कड़ी नाराजगी जताई तथा अधिकारियों को निर्देश दिये कि आवश्यक और सभी सूचनाओं से लैस उच्च गुणवत्ता के साईन बोर्ड लगायें जायें। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि चिन्हित प्रमुख मार्गों का नामकरण राष्ट्रीय स्तर के महापुरूषों के नाम पर किया जायेगा जबकि स्थायी स्तर पर विशेष पहचान बनाने वाले विशिष्ट व्यक्तियों के नाम पर ग्रामीण सड़कों का नामकरण होगा। उन्होने कहा कि लोक निर्माण विभाग प्रदेश के पिछड़े जिलों को चिन्हित कर सड़को को विकसित करने की कार्ययोजना भी बनाये।
केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग में व्यापक स्तर पर स्वच्छता अभियान चलाने के निर्देश अधिकारियों को दिये तथा लोक निर्माण विभाग की विभागीय पत्रिका निकालने पर गम्भीरता पूर्वक विचार करने का सुझाव भी दिया। 
समीक्षा बैठक में प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नितिन रमेश गोकर्ण, सचिव लोक निर्माण विभाग समीर वर्मा, विशेष सचिव योगेश्वर राम मिश्र, विभागाध्यक्ष वी0के0 सिंह, समस्त मुख्य अभियन्ता सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।