महात्मा गांधी की 150वीं जयंती आयोजन हेतु गठित समिति की प्रथम बैठक कल

स्टेटमेन्ट टुडे /Statement Today / समाचार एजेंसी:
ब्यूरो मुख्यालय: लखनऊ, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को भव्य रूप से मनाए जाने के लिए उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक की अध्यक्षता में गठित 55 सदस्यीय समिति की प्रथम बैठक कल दिनांक 31 जुलाई, 2018 को लाल बहादुर शास्त्री भवन में आयोजित की गई है। बैठक में प्रारम्भिक कार्य कलापों सहित महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को भव्य उत्सव के रूप से मनाए जाने के संबंध में नीतियाँ/योजनाएं कार्यक्रम अनुमोदित करना, इनका पर्यवेक्षण एवं मार्गदर्शन करना तथा समारोह के विस्तृत कार्यक्रम के लिए अनन्तिम तारीखों पर निर्णय लेना सम्मिलित है। समिति द्वारा बैठक में हुए विचार-विमर्श के उपरान्त की गई सिफारिशों के क्रियान्वयन पर सरकार द्वारा विचार किया जाएगा।
महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाए जाने हेतु राज्य सरकार द्वारा 14 जून, 2018 को अधिसूचना जारी कर 55 सदस्यीय राज्य स्तरीय समिति का गठन किया गया था। समिति में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उच्च न्यायायालय इलाहाबाद के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति दिलीप बाबासाहेब भोसले, विधान सभा अध्यक्ष हृदय नाराण दीक्षित, उप मुख्यमंत्री द्वय डाॅ0 दिनेश शर्मा एवं केशव प्रसाद मौर्य, मंत्रिमण्डल के सदस्यगण, पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव, पूर्व मुख्यमंत्री मायावती, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, नेता विपक्ष विधान सभा राम गोविन्द चैधरी, विभिन्न राजनैतिक पार्टियों के अध्यक्ष/प्रदेश अध्यक्ष, राज्यसभा सदस्य, विभिन्न शैक्षिक एवं सांस्कृतिक संस्थाओं के पदाधिकारीगण, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारीगण, कल्बे सादिक, इतिहासकार योगेश प्रवीन सहित अनेक गणमान्य नागरिकों को शामिल किया गया है जिससे महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की नीतियाँ एवं योजनाएं निर्धारित की जा सके तथा भव्य स्मरणीय कार्यक्रम श्रंृखला आयोजित हो सके। समिति में गणमान्य नागरिकों में शिक्षाविद्, धर्मगुरू, पत्रकार, इतिहासकार तथा अनेक विधाओं से जुड़े लोगों को भी सम्मिलित किया गया है। समिति के सदस्य सचिव अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश अवस्थी हैं।
उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति भवन, नई दिल्ली में 03 से 05 जून, 2018 के मध्य आयोजित राज्यपाल सम्मेलन के अंतिम दिन महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के आयोजन के संबंध में भी चर्चा हुई जिसमें अन्य प्रदेशों के राज्यपालों सहित राज्यपाल राम नाईक ने अपने सुझाव रखे थे। उन्होंने ‘स्वच्छ भारत अभियान’ को जारी रखते हुए और अधिक व्यापक स्तर पर कार्य करने पर जोर देते हुए महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को आयोजित करने के लिए प्रदेश स्तर पर भी एक समिति का गठन किए जाने का सुझाव दिया था जिसमें राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री का उचित सहभाग हो। समारोह के लिए बजट की व्यवस्था राज्य सरकार के माध्यम से करने का भी उन्होंने सुझाव दिया था। इसी क्रम में राज्य सरकार ने राज्यपाल की अध्यक्षता में एक राज्य स्तरीय समिति का गठन किया था।