अरूणांचल प्रदेश की छात्राओं के एक दल ने राज्यपाल से मुलाक़ात की

Statement Today:
अब्दुल बासिद/ब्यूरो मुख्यालय: लखनऊ, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल से आज राजभवन में ‘नेशनल इंटीग्रेशन टूर’ के अंतर्गत बोमडीला, अरूणांचल प्रदेश से आये 10 छात्राओं एवं 02 अध्यापकों के दल ने भेंट की। इस अवसर पर राज्यपाल के प्रमुख सचिव हेमन्त राव, विशेष सचिव डाॅ0 अशोक चन्द्र, मेजर कौशिक राय, कैप्टन अंशुमन चतुर्वेदी, प्रधानाध्यापक प्रिंसला प्रेटिन तथा अन्य भी उपस्थित थे।
राज्यपाल ने छात्राओं को बताया कि उत्तर प्रदेश आबादी की दृष्टि से देश का सबसे बड़ा प्रदेश है। विश्व में जनसंख्या की दृष्टि से केवल तीन देश अमेरिका, चीन और इण्डोनेशिया ही उत्तर प्रदेश से बड़े हैं। उत्तर प्रदेश से 80 सदस्य चुनकर लोकसभा जाते हैं तथा अरूणाचल प्रदेश से दो सदस्य चुनकर जाते हैं। उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक विशेषता का उल्लेख करते हुये उन्होंने बताया कि इलाहाबाद में संगम तट पर ‘कुंभ 2019’ का आयोजन होना है जिसमें देश-विदेश से 12 करोड़ से अधिक लोग सम्मिलित होंगे। उन्होंने बच्चों को राजभवन एवं राज्यपाल के दायित्वों के बारे में भी बताया।
राम नाईक ने प्रदेश की विशेषता बताते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश ने अब तक 9 प्रधानमंत्री देश को दिए हैं और देश के पहले प्रधानमंत्री पं0 जवाहर लाल नेहरू उत्तर प्रदेश से ही थे। देश के वर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द उत्तर प्रदेश के निवासी हैं एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी उत्तर प्रदेश के वाराणसी से सांसद हैं। राज्यपाल ने स्व0 प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में बताया कि वह लोकसभा में लखनऊ का प्रतिनिधित्व करते थे, इसलिए उनका लखनऊ से विशेष लगाव था। राज्यपाल ने छात्राओं को अपने बचपन के संस्मरण भी सुनाये। राज्यपाल ने अध्यापकों तथा छात्राओं को अपनी पुस्तक ‘चरैवेति! चरैवेति!!’ तथा चतुर्थ कार्यवृत्त ‘राजभवन में राम नाईक’ की प्रतियाँ भी भेंट की।