UP के 35 जनपदों में कोई कोविड केस नहीं, तथा लगभग 61 जनपदों में कोविड का कोई एक्टिव केस नहीं है

Statement Today
ब्यूरो मुख्यालय लखनऊ:, अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के अभिनव प्रयास से प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित में है। उन्होंने बताया कि 3टी के कारण ही 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 3,10,783 से घटकर मात्र 191 हो गये है तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर 18 हो गये है। उन्हांेने बताया कि 35 जनपदों में कोई कोविड केस नहीं है तथा लगभग 61 जनपदों में कोविड का कोई एक्टिव केस नहीं है। सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17.24 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है। लक्षणयुक्त व्यक्तियों का टेस्ट कराकर संक्रमण होने पर लगभग 16 लाख से अधिक निःशुल्क मेडिकल किट भी बांटी गयी है। अन्य प्रदेशों में कोविड के केस बढ़ रहे है। कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए सभी लोग कोविड अनुरूप आचरण करे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें।
नवनीत सहगल ने बताया कि प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं जा रही हैं। कोविड संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए समय से पहचान व इलाज जरूरी है। कल एक दिन में 01 लाख 91 हजार से अधिक कोविड टेस्ट किये गये है, अब तक 7 करोड़ 59 लाख से अधिक कोविड टेस्ट किये गये है जो कि देश में सर्वाधिक है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस, टेस्टिंग एवं टीकाकरण का कार्य वृहद स्तर पर किया जा रहा है। प्रदेश में कल तक 50 प्रतिशत पात्र जनसंख्या को वैक्सीन की कम से कम एक डोज दे दी गयी है। नीति आयोग तथा डब्लूएचओ के द्वारा कहा गया है कि वैक्सीन की एक डोज लगभग 90 प्रतिशत कोविड से होने वाली मौतों से रक्षा करती है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 09 करोड़ से अधिक कोविड वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है जो कि देश में सर्वाधिक है। आज प्रदेश में मेगा वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है। जिसके अन्तर्गत 12 लाख से अधिक डोज दी जा चुकी है। जिसे लगभग 20 लाख करने का लक्ष्य रखा गया है।  
नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर बरसात के मौसम को देखते हुए डेंगू, मलेरिया व अन्य वायरल बीमारियों के लक्षणयुक्त मरीजों की पहचान के लिए प्रदेशव्यापी सर्विलांस अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के अन्तर्गत बरसात के बाद मच्छरजनित और जलजनित रोग से बचने के लिए साफ-सफाई का विशेष ध्यान दिया जा रहा है। डेंगू व अन्य वायरल रोगों का इलाज सरकारी अस्पतालों में निशुल्क किया जा रहा है। जांच सुविधा स्थानीय स्तर पर उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने आज प्रदेश में अतिवृष्टि से उत्पन्न स्थिति में राहत कार्य पूरी सक्रियता से संचालित करने तथा प्रभावितों को तत्परतापूर्वक मदद एवं राहत प्रदान करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने निर्देशित किया कि जहां कहीं भी जल भराव हुआ है, उन क्षेत्रों में तत्काल जल निकासी की व्यवस्था की जाए। नगरीय निकायों द्वारा पूरी क्षमता के साथ जल निकासी के प्रबंध किए जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रामक रोग न फैलने पाएं, इसके लिए सभी जरूरी इंतजाम किये जायें। शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में फॉगिंग और एन्टी लार्वा स्प्रे करने के निर्देश दिए हैं।नवनीत सहगल ने बताया कि प्रधानमंत्री के जन्मदिवस 17 सितम्बर, 2021 से लेकर प्रधानमंत्री जी के 20 साल की जनसेवा का कार्यकाल 07 अक्टूबर, 2021 को पूरा हो रहा है, जिसे प्रदेश सरकार द्वारा विकास उत्सव के रूप मंे मनाया जा रहा है, जिसमें प्रतिदिन विभिन्न कार्यक्रम किये जायेंगे। मुख्यमंत्री द्वारा आज विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अन्तर्गत 21000 लाभार्थियों को टूल किट तथा 11,000 लाभार्थियों को प्रधानमंत्री मुद्रा लोन लगभग 171 करोड़ रूपये दिया गया है। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि 03 महीने में 75,000 पारम्परिक शिल्पकारों को प्रशिक्षण देकर उन्हें उनकी आवश्यकतानुसार बैंकों के माध्यम से वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *