थाईलैंड में ‘कुशीनगर महापरिनिर्वाण स्थल’ बना आकर्षण का केन्द्र

statementtoday.com2 months ago141 min
Statement Today

अब्दुल बासिद/ब्यूरो मुख्यालय: लखनऊ, थाईलैंड में 23 फरवरी से 3 मार्च तक आयोजित बुद्धभूमि कार्यक्रम के माध्यम से उत्तर प्रदेश पर्यटन थाईलैंडवासियों को कुशीनगर महापरिनिर्वाण स्थल के दर्शन करा रहा है। कार्यक्रम में भगवान बुद्ध के महापरिनिर्वाण स्थल थीम पर पवेलियन का निर्माण किया गया है। थाईलैंडवासीयों को इसके माध्यम से उत्तर प्रदेश के छह प्रमुख बौद्ध तीर्थ स्थलों की जानकारी दी जा रही है। पवेलियन में आने वालों को कुशीनगर, सारनाथ, श्रावस्ती, कपिलवस्तु, संकिसा और कौशांबी तीर्थ से जुड़ी जानकारी पुस्तक, यात्रा वृतांत और स्टॉल आदि के माध्यम से प्रदान की जा रही है।

कार्यक्रम उद्घाटन के अवसर पर पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह ने वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि हम उस देश के वासी हैं, जहां भगवान बुद्ध का अवतरण हुआ जिन्होंने विश्व को शांति और अहिंसा की राह दिखाई है। उनकी इसी राह पर चलकर विश्व में शांति स्थापित हो सकती है। मैं ऐसे प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं जहां मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम और भगवान श्रीकृष्ण ने जन्म लिया तो वहीं भगवान बुद्ध ने इसी पावन धरती को तप, उपदेश और परिनिर्वाण के लिए चुना।

पर्यटन मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व में पर्यटन का तेजी से विकास हो रहा है। इसके लिए सरकार निजी निवेशकों को भरपूर और अच्छा अवसर उपलब्ध करा रही है। बौद्ध तीर्थ स्थलों में आधुनिक सुविधा प्रदान करने के लिए प्रदेश सरकार विभिन्न परियोजनाओं पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पर्यटन विभाग ने कपिलवस्तु, सारनाथ, श्रावस्ती, कौशांबी, कुशीनगर,संकिसा और देवदह में बड़े पैमाने पर पर्यटन विकास कार्य किए जा रहे हैं। इन तीर्थों पर हेलीपोर्ट समेत अन्य मूलभूत पर्यटन सुविधाओं और पर्यटन गेस्ट हाउस परियोजनाओं के विकास में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप यानी पीपीपी अवसरों के लिए आमंत्रित किया है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है दुनियाभर से बौद्ध श्रद्धालु उत्तर प्रदेश आएं और भगवान बुद्ध से जुड़े सभी पावन स्थलों के साथ ही अयोध्या, काशी समेत अन्य पर्यटन स्थलों का भ्रमण करें।

कार्यक्रम में पर्यटन व संस्कृति विभाग का प्रतिनिधित्व कर रहे प्रमुख सचिव मुकेश कुमार मेश्राम ने थाईलैंडवासियों को उत्तर प्रदेश आने और प्रमुख बौद्ध स्थलों के दर्शन को आमंत्रित किया। उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा इन स्थलों पर हो रहे पर्यटन विकास के कार्यों के बारे में विस्तार से बताया। वहीं निवेशकों को लुभाने के लिए उत्तर प्रदेश स्थित बौद्ध धर्म से संबंधित विभिन्न जगहों में निवेश के अवसर और व्यवसाय संभावनाओं से जुड़ी जानकारी दी।

 गौरतलब है कि भारत में हर वर्ष बड़ी संख्या में बौद्ध श्रद्धालु आते हैं। ऐसे में उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग का भारत आने वाले बौद्ध तीर्थयात्रियों को अधिक से अधिक अपनी ओर आकर्षित करने पर विशेष जोर है। प्रदेश सरकार का प्रयास है कि दुनिया को बौद्ध स्थलों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी उपलब्ध कराई जाए। पर्यटन बढ़ने के साथ ही स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *