भाषा विश्वविद्यालय में हुआ बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ वर्कशॉप का आयोजन

statementtoday.com2 months ago151 min
Statement Today

अब्दुल बासिद/ब्यूरो मुख्यालय: लखनऊ, ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय, लखनऊ में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ नामक कार्यशाला का आयोजन किया गया।

विदित है कि भारत और उत्तर प्रदेश सरकार बेटियों के विकास के लिए संकल्पित है। ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग की प्रभारी डॉ. रूचिता सुजॉय चौधरी के आईसीएसएसआर स्पॉन्सर्ड कार्यशाला का आयोजन माननीय कुलपति प्रो. एन.बी सिंह के मार्गदर्शन में “ जेंडर सेंसटाइजेशन थ्रू बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओः अ रोड मैप फॉर सोशल चेंज “ विषय पर एक दिवसीय पर अटल हॉल में किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ विश्वविद्यालय में स्थित अटल सभागार में  मुख्य अतिथि ज्वाइंट सेक्रेटरी, डायरेक्टोरेट ऑफ फैमिली वेलफेयर डा. अश्विन कुमार एवं स्टेट टेक्निकल कोऑर्डिनेटर  जावेद अंसारी द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया।

विश्वविद्यालय के छात्र – छात्राओं द्वारा  सरस्वती वंदना की सुंदर प्रस्तुति दी गई। मंच पर मंचासीन अतिथियों को पौध अर्पण कर उनका स्वागत किया गया।

कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए मंचासीन जावेद अंसारी ने अपनी प्रेजेंटेशन देते हुए अपने “उद्बोधन में मिशन शक्ति, प्रशासन की पाठशाला जैसी और भी योजनाओं के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का सकारात्मक प्रभाव देखने को मिल रहा है“ वहीं दूसरी ओर डा. अश्विन ने जेंडर डिस्क्रिमिनेशन के बारे में बात करते हुए अपने उद्बोधन में कहा कि“ हमारे समाज की स्थिति चिंतित करने वाली है और  हमारे समाज में भेद भाव को पैदा हमने ही किया है और इसमें सुधार भी हमको ही करना होगा, हमें अपने स्वभाव को और नज़रिए को बदलने की आवश्यकता है“।

कार्यशाला के द्वितीय चरण में मुख्य अतिथि के रूप में एक्सपर्ट पीसी एंडपी एनडीटी एक्टफ्रम डायरेक्टोरेट ऑफ फैमिली वेलफेयर ,लखनऊ  पंकज भसीन उपस्थित रहे। कार्यक्रम में दो सत्रों में प्रो. मुकुल श्रीवास्तव, अरशाना अजमत, नाईश हसन और सिद्धार्थ कलहन ने बेटियों को सुरक्षित रखने की बात पर प्रकाश डालते हुए सभी प्रतिभागियों से सवाल जबाव किए गए। कार्यक्रम के अंतिम सत्र में प्रो. मसूद आलम और प्रो. गोविन्द जी पांडेय ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान को विभिन्न सामाजिक पहलुओं से सभी प्रतिभागियों को अवगत कराया।

कार्यक्रम समापन पर ले जाते हुए मुख्य अतिथियों को मोमेंटो देकर पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग की प्रभारी डा. रूचिता सुजय चौधरी द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया। कार्यशाला में 100 विद्यार्थियों सहित विश्वविद्यालय के डॉ. शचीन्द्र शेखर, डॉ. काजिम रिज़वी, डॉ. नसीब, चितवन, मुस्कान और मोहसिन सहित विश्वविद्यालय के तमाम शिक्षक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *