राष्ट्रीय होम्योपैथी आयोग आचार एवं पंजीकरण बोर्ड की बैठक हुई सम्पन्न

statementtoday.com1 month ago91 min
Statement Today

अब्दुल बासिद/ब्यूरो मुख्यालय: लखनऊ, राष्ट्रीय होम्योपैथी आयोग आचार एवं पंजीकरण बोर्ड की बैठक हरिकेश चौरसिया, विशेष सचिव, आयुष, उ0प्र0 शासन की अध्यक्षता में बैठक राजकीय तकमील उत्तिब कालेज एवं चिकित्सालय में आहूत की गयी।

जिसमें राष्ट्रीय होम्योपैथी आयोग के चेयरमैन डा0 अनिल  खुराना प्रेसिडेन्ट बी0ई0आर0एस0, एन0सी0एच0, डा0 पिनाकिन त्रिवेदी, सदस्य, बी0ई0आर0एच0 एन0सी0एच0, डा0 सेन्थिल जगदीशन, मेम्बर,  एम0ए0आर0बी0एच0, एन0सी0एच0, डा0 आनन्द चतुर्वेदी, सेकेट्री,  एन0सी0एच0, डा0 संजय गुप्ता, कन्सलटेन्ट बी0ई0आर0एच0, एन0सी0एच0, डा0 बिथी रॉय एवं आई0टी0जी0ओ0आई0,  अभिषेक परमार द्वारा प्रतिभाग  किया गया।

उनके अतिरिक्त निदेशक, होम्योपैथी, उ0प्र0,  अरविन्द कुमार  वर्मा, रजिस्ट्रार, उ0प्र0 होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड, लखनऊ,  विनय कुमार  त्रिपाठी एवं समस्त मेडिकल कालेजों के प्राचार्य, सी0एम0एस0, समस्त जिला होम्योपैथिक चिकित्साधिकारी तथा होम्योपैथी विधा के सम्मानित चिकित्सकों द्वारा प्रतिभाग किया गया। 

इस बैठक में राज्य होम्योपैथिक रजिस्टर को अपडेट करना एवं ए0बी0डी0एम0 के अन्तर्गत आयुष्मान भारत एवं डिजिटल मिशन में रजिस्टर करने के साथ-साथ डाटा सिन्क्रोनाइज़ करना तथा ए0पी0आई0 के माध्यम से रीयल टाइम स्टेट डाटा को सेन्ट्रल एन0सी0एच0 की वेबसाइट पर अपडेट किये जाने के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी।

जनपदवार चिकित्सकों का डाटा नेशनल होम्योपैथिक काउसिंल में पंजीकृत करने के सम्बन्ध में आयोग द्वारा जानकारी दी गयी तथा राष्ट्रीय होम्योपैथी आयोग के चेयरमैन द्वारा रेगुलेट प्रोफेशनल कन्डक्ट एवं एथिक्स की जानकारी दी गयी और नेशनल रजिस्टर को पब्लिक डोमेन बनाने के लिये आयुष ग्रिड पोर्टल के बारे में बताया गया तथा नेशनल आयुष ग्रिड पोर्टल के रूप में एकीकृत प्लेटफार्म विकसित किया गया।

जहां छात्र अपने कोर्स के पंजीकरण से लेकर रजिस्टर्ड होम्योपैथिक चिकित्सक बनने की अवधि में किसी भी स्तर तक अपना डाटा ऑनलाइन मॉनीटर कर सकता है। रेगुलेशन-09 के अन्तर्गत अपना पंजीकरण का नेशनल रजिस्टर से हर पांच वर्ष में अपडेट भी कराने की जानकारी दी गयी। डा0  सेन्थिल द्वारा टेलीमेडिसिन के फायदे बताये गये।

विशेष सचिव, उ0प्र0 आयुष  द्वारा बताया गया कि आयुष के सभी विधाओं को एकीकृत कर एक पोर्टल के माध्यम से जोड़ा जाय तथा आनलाइन सभी दवाओं की उपलब्धता को पारदर्शी बनाने तथा आयुष अटेन्डेन्स मोबाइल ऐप के द्वारा चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित करना व पंचकर्मा सेन्टर, गठिया सेन्टर बनाने व स्मार्ट क्लास रूम आदि के सम्बन्ध में पी0पी0टी0 के माध्यम से विस्तार से प्रस्तुतीकरण किया गया एवं जानकारी दी गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts